विश्वास

ईशा आफिस में अपनी टेबल पर बैठी काम कर रही थी तभी उसकी नज़र सामने से आते अपने मंगेतर समर पर पड़ी। उसके [...]

बहू रानी

सावित्री रोज़ का सौदा लेने बाजार  गयी तो सदानंद को परेशान खड़ा देखा , सब्जी वाले के पास। उसको देखते ही वो बोला, [...]

कुदरत का पंच

द्वारकानाथ ने सबसे छोटी पुत्री चैताली के लिए वर खोजने में कोई कसर नहीं छोड़ी,प्रत्येक प्रत्याशी में कोई न कोई कमी नजर आ [...]

संघर्ष

जिया बारहवीं की पढ़ाई को लेकर बहुत उत्साहित थी, ग्यारहवीं में कक्षा में सबसे अधिक अंक प्राप्त करने के कारण आत्मविश्वास से लबरेज। [...]

अमानत

केतकी की तीन चार दिन से तबीयत ठीक नहीं थी, सुबह उठते ही ऊबकाई आती और सारा दिन चक्कर से आते रहते। पहले [...]

बेबसी

निशा काम निपटा कर बैठी ही थी की फोन की घंटी बजने लगी।मेरठ से विमला चाची का फोन था ,”बिटिया अपने बाबू जी [...]